पुलवामा हमले के बाद दुनिया को भारत के साथ देख घबराया पड़ोसी, अब दे रहा है सफाई

world with India

नई दिल्ली। पुलवामा अटैक में अपने देश में सक्रिय आतंकी संगठनों की संलिप्तता से इनकार करता रहा पाकिस्तान अब दबाव में आता दिख रहा है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और दुनिया के कई ताकतवर देशों की ओर से भारत के पक्ष को रखे जाने के बाद दबाव में आया पाक अब सफाई में जुटा है। इसी के तहत गुरुवार की शाम को पाक पीएम इमरान खान ने खूंखार आतंकी हाफिज सईद के संगठनों जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत को बैन कर दिया। पाकिस्तान ने खुद भी आतंक का पीड़ित होने की दलील देते हुए अब दुनिया को सफाई दे रहा है।
After the Pulwama attack, the world is nervous to see the world with India, now it is giving cleanliness
पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत के बेहद सख्त रुख ने पाकिस्तान को हिलाकर रख दिया है। चौतरफ दबाव में घिरी पाकिस्तान की सरकार इस हमले में हाथ होने से इनकार तो कर रहा है लेकिन पिछले 24 घंटे में कई आतंकी संगठनों पर बैन भी लगा चुका है। दुनिया भर में आतंकवाद के मुद्दे पर अलग-थलग पड़ रहे पाक के पीएम इमरान ने राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की मीटिंग बुलाकर हालात पर चर्चा की। इस मीटिंग में इमरान ने पाकिस्तान का हाथ होने से इनकार किया। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि यदि पाकिस्तान की धरती का इस्तेमाल करते हुए कोई आतंकी पाया जाता है तो उसे सजा दी जाएगी।

यही नहीं इमरान खान ने आतंक और अतिवाद से निपटने के लिए पाक की ओर से उठाए जा रहे कदमों की भी जानकारी दी। सरकारी सूत्रों ने पाक के इन कदमों को लेकर कहा कि उसके ये दिखावटी प्रयास इस बात का सबूत हैं कि अंतरराष्ट्रीय दबाव के चलते अब वह परेशान है। गौरतलब है कि कई देशों ने पुलवामा हमले की निंदा करते हुए सीधे तौर पर पाकिस्तान में सक्रिय आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद को इसके लिए जिम्मेदार बताया है। यही नहीं फ्रांस, अमेरिका और ब्रिटेन ने आतंकी सरगना मसूद अजहर के खिलाफ इंटरनैशनल बैन लगाए जाने के प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पेश करने की बात भी कही है।

Leave a Response