भारत के प्रसिद्ध एम एस टाॅक्स मे भोपाल की मेन्टर रंजीता अशेष ने शिरकत की

Ranjita Alshain attended the meeting
उन्नीस जनवरी को मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर के आई.पी.एस. काॅलेज के तत्वाधान में एम.एस. टाॅक (मोटिवेशनल स्पार्कल्स टाॅक) का आयोजन किया गया। जिसमें आए हुए सभी सितारों ने उपस्थित श्रोताजन के सामने न केवल व्यक्तित्व विकास व सफल जीवन के सूत्र बताए वरन मनोरंजन से भी श्रोतागण को मंत्रमुग्ध कर दिया।कार्यक्रम की शुरूआत फ्लोरल वेलकम व कुलविंदर अरोरा की वेलकम स्पीच से हुई। जिसके बाद ऑथर शेरी जो एम एस टाॅक के प्रेसिडेन्ट भी हैं ,ने लक्ष्य को पाने के लिए स्टूडेंट्स को ज़रूरी टिप्स दिए।
bhaarat ke prasiddh em es taaaiks me bhopaal kee mentar ranjeeta ashesh ne shirakat kee
पहला व्याख्यान एस.एस. डोगरा सर (पत्रकार लेखक मिडिया एकेमिडिसियन, मिडिया वर्कशाप गुरू) के नाम रहा। जिन्होने अपना वक्तव्य ‘‘हिन्दी भाशा की वर्तमान स्थिति’’ विषय पर दिया। अपने व्याख्यान के दौरान उन्होने बताया हमें अपनी मातृभाष, राश्ट्रभाष पर गर्व करना चाहिए। श्री डोगरा जी ने भारत के विभिन्न भागों में 150 से भी अधिक मिडिया कार्यशालाएं आयोजित कर चुके है। डोगरा सर कि किताब ‘‘मीडिया केन डू वंर्डस इन लाइफ’’ शिक्षण जगत में काफी चर्चित रही है। दूसरा व्याख्यान डाॅ. एन.पी. कटारे (वाईस प्रिंसीपल किड्जि काॅर्नर स्कूल, प्रेसीडेन्ट इंडियन इन्टरनेषनल टीचर एसोसिएषन) का ‘‘स्टेप्स् टू अचीव गोल’’ विशय पर रहा। अच्छे भविष्य व सफल व्यक्तित्व के लिए उनका चिंतन पांच बातों पर आधारित रहा। फेसिलिटी का प्रयोग कम होना चाहिए।आवष्यकता आविश्कार की जननी होती है।निडर रहना चाहिए।निरूद्देशय अध्ययन नहीं करना चाहिए।समय आश्रित व लक्ष्य केन्द्रित अध्ययन होना चाहिए।
तीसरा व्याख्यान मिसेज रंजीता अशेष (आथर, इंटरप्रीन्योर, मेन्टर) का रहा। उनका विषय  ‘‘च्वाइसेस यू मेक इन लाईफ’’ विषय पर आधारित था। अपने व्याख्यान में उन्होने बताया कि प्रगतिशील लोगो  को अपने जीवन शैली में अभी नही तो कभी नहीं की सूक्ति को शामिल करना चाहिए। डाउट्स क्लीयर करके चले, बोझ लेकर अपने सपनो को पूरा नहीं कर सकते, बुक खोलकर नहीं दिमाग खोलकर पढ़ने से सफलता हाथ लगती है। चौथा व्याख्यान मिस पूजा मित्तल (लाईफ काॅच, न्युम्रोलाॅजिस्ट, सिग्नेचर एनालिस्ट) का ‘‘योर सिग्नेचर इज योर डेस्टिनी आन पेपर’’ पर रहा। उन्होने बताया आज डिजिटल इंडिया में सबकुछ टेक्निीकल प्रोसेस से हो रहा है। केवल सिग्नेचर का तरीका आपके व्यक्तित्व का निरूपण करता है।
पांचवा व्याख्यान मिस नैन्सी जुनेजा (कम्युनिकेशन स्टेªटेजिस्ट, यूथ लीडरशिप काॅच, मोटिवेशनल स्पीकर, सोशल एक्टिीविस्ट) इनका व्याख्यान का विषय विनिंग द रिक्रूटमेंट रेस था। अपने व्याख्यान में उन्होने फाईव ‘‘p’’ पोजिशनिंग, परस्यु, प्रेक्टिस, प्रजेन्स और परसीव के बारे में बताया।   इस अवसर पर संस्थान के निदेषक डाॅ. अरूण कुमार त्यागी, उपनिदेशक  श्री अष्विनी मिश्रा, समस्त स्टाफगण व प्रतिभागी छात्र-छात्राएँ मौजूद रहे। भोपाल की प्रसिद्ध कवियित्री श्रीमती रंजीता अशेष को ‘जाॅली अंकल का बेस्ट स्पीकर ‘ का अवार्ड भी मिला।काॅलेज के छात्रों को उनकी रियल स्टोरी से काफी प्रेरणा मिली।रंजीता क्षीतीज ग्रुप की फाउन्डर भी हैं जो युवा कवियों के लिए काम कर रहा है। एम एस टाॅक जैसे विख्यात ग्रुप से एक मोटिवेशनल स्पीकर के तौर पर सराहना मिलने पर वे काफी गौरवान्वित महसूस कर रही हैं ।

Leave a Response