सीबीआई पूछताछ से पहले बंगाल के वरिष्ठ अधिकारी करा रहे राजीव कुमार की तैयारी

raajeev kumaar

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में तैनात सीबीआई अधिकारी दिल्ली मुख्यालय से कोलकाता लौटने लगे हैं। अधिकारियों को निर्देश मिले हैं कि वे शनिवार से पहले शिलॉन्ग पहुंचें और कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करें। ऐसे में राजीव कुमार के पास दो दिन का समय है कि वह खुद को सीबीआई के सवालों के लिए तैयार कर लें। राजीव कुमार को तैयार करने के लिए राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने 80-100 संभावित सवालों की लिस्ट तैयार की है, जो सीबीआई उनसे पूछ सकती है।
CBI poochhataachh se pahale bangaal ke varishth adhikaaree kara rahe raajeev kumaar kee taiyaaree
कोलकाता पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने मंगलवार को ही संकेत दिए थे कि राजीव कुमार शुक्रवार तक सीबीआई की पूछताछ के लिए तैयार हो जाएंगे। अधिकारियों ने यह फैसला उसी दिन ले लिया था, जब सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि सीबीआई राजीव कुमार से पूछताछ कर सकती है लेकिन उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सकती और ना ही उनके खिलाफ बलपूर्वक कोई कार्रवाई कर सकती है।

अधिकारियों ने तैयार की है संभावित सवालों की सूची
सीबीआई द्वारा अपने अधिकारियों को शनिवार को शिलॉन्ग भेजने से यह स्पष्ट हो गया है कि रविवार से पहले पूछताछ नहीं हो सकती है। कोलकाता पुलिस के अधिकारियों कहना है कि इससे राजीव को तैयार होने के लिए और वक्त मिल जाएगा। राज्य पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने राज्य के क्राइम इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट के साथ मिलकर 80 से 100 सवालों की एक लिस्ट तैयार की है, जो सवाल सीबीआई राजीव कुमार से पूछ सकती है।

एक अधिकारी ने कहा, ‘एडीजी रैंक के एक अधिकारी के नेतृत्व में सीआईडी की एक टीम कोलकाता पुलिस की लीगल टीम से बात करने लालबाजार आई थी।’ आपको बता दें कि सीबीआई की पूछताछ का समय काफी महत्वपूर्ण हो गया है क्योंकि चुनाव आयोग के निदेर्शों के मुताबिक, 28 फरवरी तक राजीव कुमार का ट्रांसफर किया जाना है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पहले ही संकेत दिए थे कि ये सारे ट्रांसफर 15 और 20 फरवरी तक पूर कर लिए जाएं। सीबीआई अधिकारियों ने भी संकेत दिए हैं कि वे भी पूछताछ 20 फरवरी से पहले ही कर लेंगे।

सीआईडी टीम ने जुटाए इनपुट्स
सीआईडी टीम ने पहले ही सीबीआई द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दी गई संभावित प्रश्नों की सूची को चेक किया। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा सारदा चिटफंड घोटाले की जांच के लिए गठित एसआईटी टीम से भी इनपुट्स लिए हैं। अधिकारियों ने यह भी बताया कि राज्य पुलिस के दो वरिष्ठ अधिकारी भी राजीव कुमार के साथ शिलॉन्ग जा सकते हैं। सीबीआई की पूछताछ से पहले एक पूर्व एसआईटी अधिकारी ने कहा है, ‘सीबीआई ने राजीव कुमार पर कॉल डीटेल्स की टैंपरिंग का आरोप लगाया है लेकिन सुदीप्त सेन और देबजानी मुखर्जी को तो सबसे पहले जम्मू-कश्मीर पुलिस ने गिरफ्तार किया था और शुरूआत में उन्होंने ही दोनों के सामान जब्त किए थे। क्या सीबीआई ने जम्मू-कश्मीर पुलिस से बात की है?’

Leave a Response