जावरा के बालिका आश्रय से शौचालय की खिड़की तोड़कर भागी पांच लड़कियां, तलाश जारी

Jawara's girl shelter

रतलाम। मध्यप्रदेश के रतलाम के जावरा स्थित बालिका आश्रय गृह से गुरुवार को पांच नाबालिग लड़कियां भाग निकली। ये बालिकाएं आश्रय स्थल की पहली मंजिल पर बने हुए शौचालय का वेंटिलेटर लोड़कर भागने में सफल हो गई। सूचना के बाद बालिकाओं की तलाश में बालिका गृह के संचालकों से लेकर पूरी समिति सदस्य अपने-अपने स्तर पर प्रयास कर रहे थे, लेकिन सफलता नहीं मिलने पर पुलिस को इस मामले की जानकारी दी।
Jawara’s girl shelter, breaks down the toilet window and divides five girls, seeks release
दरअसल, जावरा में कुंदन-कुटीर नाम से आश्रय घर चलाया जा रहा है। डॉ. रचना भारती सहित जिले के कई प्रतिष्ठित लोग समिति की सदस्य हैं। आश्रय घर में अनाथ, निराश्रित नाबालिग बच्चियों को रखा जाता है। गुरुवार दोपहर करीब 12 बजे यहां रहने वाली पांच किशोरियां एक साथ निकल कर कहीं चली गई। जानकारी के अनुसार भागने वाली तीन बालिकाओं की उम्र 17-17 साल है, जबकि एक की उम्र 15 और एक 10 साल की है।

सभी बालिकाएं आश्रय स्थल की पहली मंजिल पर बने शौचालय के खिड़की को तोड़कर छत पर कूदी और वहां से पड़ोस की छत पर कूदकर भाग निकली। करीब एक घंटे तक आश्रय गृह के लोग उन्हें आसपास और पूरे जावना इलाके में तलाशते रहें, लेकिन लड़कियों का कोई पता नहीं चला। इसके बाद आश्रय गृह के सदस्यों ने पुलिस में आवेदन दिया है। घटना की सूचना पर एसडीएम जावरा और स्थानीय पुलिस अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली और संचालिका से पूछताछ की। इस मामले में प्रशासन ने जिले के सभी क्षेत्रों में नाकाबंदी कर सर्चिंग तेज कर दी है। औद्योगिक थाना पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

Leave a Response