कर्नाटक में सियासी घमासान जारी, विधानसभा के बजट सत्र में गायब रहे 13 विधायक, असमंजस में गठबंधन

karnatak mein siyasi ghamasan jari

बेंगलुरु/मुंबई। कर्नाटक में सियासी घमासान जारी है। कांग्रेस-जेडी(एस) गठबंधन सरकार अपने 13 विधायकों को लेकर असमंजस की स्थिति में है जिनमें से 10 कांग्रेस के हैं और 2 निर्दलीय। ये विधायक विधानसभा के बजट सत्र से लगातार दूसरे दिन भी नदारद रहे। सरकार को डर है कि कहीं इन विधायकों की गैरमौजूदगी भारतीय जनता पार्टी के आपरेशन लोटस की सफलता की ओर इशारा तो नहीं। हालांकि, अभी भी आंकड़े पूरी तरह पक्ष में नहीं होने से बीजेपी भी आॅपरेशन लोटस की सफलता को लेकर संशय में है।
karnatak mein siyasi ghamasan jari, vidhanasabha ke bajat satr mein gayab rahe 13 vidhayak
बीजेपी को 16 विधायकों की दरकार
मुंबई में बीजेपी सूत्रों की मानें तो गायब विधायकों में से 12 इस हफ्ते की शुरूआत के साथ ही यहां रुके हैं और एक विधायक हाल में ही में वहां पहुंचे हैं। एक पार्टी कार्यकर्ता ने बताया कि 13 में से 6 पवई स्थित रेनेसॉ होटेल में और बाकी सांताक्रूज के होटेल सहारा प्लाजा में है। इस मामले की जानकारी रखने वाले महाराष्ट्र बीजेपी के एक कैबिनेट मंत्री ने उन अटकलों को बल दिया है कि पार्टी अभी भी आंकड़ों की तिकड़म लगाने की जुगत कर रही है। हालांकि, अगर कम से कम 16 विधायक बीजेपी के साथ नहीं आए तो कर्नाटक सरकार को गिराने का आपरेशन फेल हो जाएगा।

पार्टी के अंदर ही गड़बड़ियां, आपरेशन लोटस को खतरा
एक बीजेपी नेता ने बताया, ‘यह आपरेशन चुपचाप किया जाना था लेकिन ऐसा लगता है कि बीजेपी की शहरी इकाई ने गड़बड़ कर दी है। पार्टी के अंदर ही लड़ाइयां होने से हमारे प्लान को नुकसान पहुंचा है। शहर की यूनिट को केवल तैयारियां करनी थीं लेकिन ऐसा लगता है कि वे वाहवाही लूटने के मौके ढूंढ रहे हैं। अगर आपरेशन लोटस फेल हो गया तो कोई बीजेपी को गंभीरता से नहीं लेगा।’

पहेल भी फेल हो चुकी है कोशिश
एक अन्य नेता ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के बेटे बीवाई विजयेंद्र भी गुरुवार को मुंबई में थे। पिछले महीने भी बीजेपी ने कर्नाटक सरकार को गिराने की कोशिश की थी। उस वक्त पार्टी की मुंबई यूनिट को बागी कांग्रेस विधायकों को रखने की जिम्मेदारी दी गई थी। हालांकि, आपरेशन बुरी तरह फेल हो गया जिसके बाद विधायक प्रसाद लाड को शामिल किया गया। लाड ने हाल ही में बीजेपी में जॉइन की है। उन्हें मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का खास माना जाता है।

जनवरी से ही कांग्रेस को रिजॉर्ट में रखने पड़े टछअ
बेंगलुरु से गायब 10 कांग्रेसी विधायकों में से चार विधायक जनवरी से ही गायब हैं जब कांग्रेस ने अपने विधायकों को ईगलन रिजॉर्ट में रखा था। कांग्रेस ने तब बीजेपी पर विधायकों को खरीदने की कोशिश का आरोप लगाया था। एक बीजेपी कार्यकर्ता के मुताबिक मुंबई गए विधायकों में महेश के, डॉ उमेश जाधव, बी नागेंद्र, रमेश झारकीहोली, बीसी पाटिल, प्रताप गौड़ा पाटिल, बी नाईक, डॉ सुधाकर एन, एमटीबी नागराजू और बसनगौड़ा ड्डल हैं जबकि जेडी(एस) के केएस लिंगेश और निर्दलीय एच नागेश और आर शंकर भी गायब हैं।

Leave a Response