मध्यप्रदेश: साले ने की जीजा की कुल्हाड़ी से हत्या, पुलिस ने नहीं दिखाई मानवता, बांस में टांगकर लाई लाश

kulhaadi se hatya

जबलपुर। बहन के साथ मारपीट से नाराज साले ने सिवनी जिले के धूमा निवासी जीजा की कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी। हाथ पैर बांस में बांधकर 1 किमी तक घसीटते हुए ललपुर क्षेत्र में ले जाकर नाले में फेंक दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने भी मानवता नहीं दिखाई। जैसे बांस में बांधकर शव फेंका गया था वैसे ही नाले से बाहर निकाला और टांगकर 1 किमी तक खेत के मेड़ से ले गई। वारीघाट ललपुर क्षेत्र में बहन के साथ हो रही मारपीट से नाराज होकर उसके भाई ने अपने ही जीजा पर कुल्हाड़ी से हमला कर हत्या कर दी। हत्या के बाद आरोपित ने शव को घसीटते हुए घर से लगभग एक किलोमीटर दूर खंदारी नाला में फेंक दिया। वहीं मृतक की पत्नी ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को बाहर निकाला और पीएम के लिए भिजवाते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है।
Madhya Pradesh: Salee murdered by Aija’s ax, police did not show humanity, hanging in bamboo body
ग्वारीघाट पुलिस ने बताया कि सिवनी थावर निवासी मनीष (27) का 8 साल पहले बरहैयाखेड़ा बरगी निवासी मनीषा से विवाह हुआ था। मनीष का साला रामकुमार उइके ललपुर स्थित तिलकराज यादव के खेत में रहकर काम करता है। शादी के कुछ साल बाद मनीष अपनी पत्नी मनीषा के साथ ललपुर में आकर रहने लगा था। इसके बाद मनीष, मनीषा और रामकुमार खेती की तकवारी करते थे।

शराब पीकर आए दिन करता था मारपीट
मनीष शराब पीने का आदी था, जो पत्नी मनीषा के साथ मारपीट करता था। इस बात को लेकर कई बार रामकुमार ने उसका विरोध किया था। मनीष ने मंगलवार की रात फिर से मनीषा से विवाद करते हुए मारपीट की। रामकुमार ने उसे रोका, लेकिन मनीष ने उसे धक्का दे दिया। इस बात से नाराज होकर रामकुमार ने कुल्हाड़ी उठाकर मनीष की गर्दन में मारी। मनीष जैसे ही नीचे गिरा उसके सिर में दूसरी बार हमला कर दिया। हमले में गंभीर चोट लगने से उसकी मौत हो गई।

हाथ-पैर बांधे और बांस के सहारे नाले में फेंक आए
रामकुमार ने जीजा को जान से मारने के बाद उसके हाथ-पैर बांध दिए। बांस के सहारे उसे लटकाया और घसीटते हुए घर के पास स्थित खंदारी नाले में ले जाकर फेंक दिया। खंदारी नाले तक वाहन नहीं जा सकता। जिसके कारण पुलिस बल और क्षेत्रीयजन ने मिलकर शव में बांस बांधा और बाहर निकाला

मकान मालिक ने दी पुलिस को जानकारी
हत्या के बाद रामकुमार और उसकी बहन मनीषा घर के बाहर ही बैठे रहे। तभी मकान मालिक तिलक राज यादव आया। घर के बाहर खून देखकर उसे संदेह हुआ और फिर उसने रामकुमार से मनीष के बारे में पूछा। जिसने बताया कि जीजा को मार दिया। यह सुनकर तिलक राज दंग रह गया और फिर पुलिस को सूचना दी। सूचना पर ग्वारीघाट टीआई हेमंत यादव स्टाफ के साथ मौके पर पहुंचे और आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। शव को बाहर निकालने के लिए पुलिस ने क्षेत्र के लोगों को एकत्रित किया।

मनीषा क्यों चुप रही
हत्या के बाद मनीषा भी चुप बैठी रही। उसने भी पुलिस को कोई सूचना नहीं दी। उसकी भूमिका भी संदिग्ध लग रही है। पुलिस ने मनीषा से भी पूछताछ शुरू कर दी है।

Leave a Response