मौनी अमावस्या: कुंभ के दूसरे शाही स्नान पर उमड़ा भक्तों का सैलाब, दो करोड़ लोगों ने लगाई आस्था की डुबकी

maunee amaavasya

प्रयागराज। प्रयागराज में जारी कुंभ में आज का दिन बेहद महत्वपूर्ण है। मौनी अमावस्या के दिन आज कुंभ का दूसरा शाही स्नान जारी है और अब तक लगभग दो करोड़ भक्त आस्था की डुबकी लगा चुके हैं। ऐसा लगा जैसे कुंभ में जनसैलाब उमड़ा हो। मौनी अमावस्या के इस शाही स्नान के लिए रिववार को ही कुंभनगर में करोड़ों भक्त मौजूद थे। देर रात से ही लोग संगम पर डुबकी लगाते नजर आए।
maunee amaavasya: kumbh ke doosare shaahee snaan par umada bhakton ka sailaab, do karod logon ne lagaee aastha kee dubakee
जैसे-जैसे भोर होने लगी, श्रद्धालुओं के रेले संगम तट की तरफ तेजी से बढ़ते जा रहे थे ताकि जल्द से जल्द कुंभ में स्नान का मौका मिले। कुंभ मेला प्रशासन ने दावा किया कि सुबह आठ बजे तक 1.81 करोड़ श्रद्धालुओं ने संगम में डुबकी लगा ली थी। विश्व के सबसे बड़े आध्यात्मिक और धार्मिक प्रयागराज कुंभ में आज मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने के लिए श्रद्धालुओं में जबरदस्त जोश देखने को मिल रहा है। सुबह से ही घाटों पर स्नान के लिए लोगों का रेला लगा हुआ है। भीड़ को देखते हुए सरकार ने भी विशेष इंतजाम किए हैं।

पुलिस की ओर से भी सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं। इस शाही स्नान पर विदेशी श्रद्धालु भी उत्साह के साथ भाग ले रहे हैं। उन्हें यहा कुंभ में स्नान करने के साथ भारत दर्शन और आस्था दर्शन भी देखने को मिल रहा है। प्रयागराज कुम्भ में मौनी अमावस्या पर श्री पंचायती अखाड़ा महानिवार्णी एवं पंचायती अटल अखाड़े ने संगम में आस्था की डुबकी लगाई। यहां पर श्रद्धालुओं ने शाही स्नान के वैभव व नागा संन्यासियों का दर्शन किया। मौनी अमावस्या पर स्नान के बाद ही स्नाघंटा-घडियाल के बीच स्नान दान का क्रम शुरू हो गया।

त्रिवेणी तट पर पुण्य की डुबकी के लिए आस्था का जनसैलाब हिलोरे मारते दिखा। शहर से लेकर कुंभ मेला क्षेत्र तक की सड़कें चहुंदिश श्रद्धा पथ में तब्दील हैं। देश व दुनिया से आए संतों, श्रद्धालुओं, पर्यटकों का ऐसा सागर उमड़ा कि लगभग 5.5 किमी परिधि में फैले संगम के सरकुलेटिंग एरिया में तिल रखने भर की जगह नहीं बची। उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी यहां पर सुबह करीब पांच बजे ही संगम पर डुबकी लगाई। उन्होंने कहा कि आज पवित्र स्नान पर्व मौनी अमावस्या पर संगम स्नान करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। आज कुंभनगर में संगम पर 40 से अधिक घाट पर करोड़ों श्रद्धालुओं पहुंचे हैं। मौनी अमावस्या महात्म्य और दिव्यता के सारांश को एक सूत्र में पिरोता हुआ एक संक्षिप्त प्रयास है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज कुंभ के प्रमुख स्नान मौनी अमावस्या के पावन पर्व पर प्रदेशवासियों और कुंभ में स्नान के लिए आये देश-विदेश के संत-महात्मा और श्रद्धालुओं को हार्दिक शुभकामना दी है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस वर्ष मौनी अमावस्या विशिष्ट सुयोग के साथ संपन्न होने जा रही है। कुंभ के आयोजन में सूर्य और चंद्रमा मकर राशि में तथा बृहस्पति वृश्चिक राशि में तथा अमावस्या की तिथि सोमवार को पड़ रही है। ऐसी सोमवती अमावस्या का योग वर्षों बाद आया है। उन्होंने शाही स्नान समयबद्ध और सुव्यवस्थित तरीके से संपन्न कराने के लिए मेला प्रशासन को निर्देश दिए। श्रद्धालुओं की सुविधा, सुरक्षा एवं उनके प्रवास की सभी व्यवस्था की भी हिदायत दी है।

Leave a Response