मप्र: कांग्रेस नेता के लेटरहेड पर शिकायत लेकर पहुंचा था, जेल एडीजी ने पीटा

jel ADG ne peeta

भोपाल। एडीजी जेल गाजीराम मीणा द्वारा फरियाद लेकर पहुंचे लोगों से मारपीट का मामला सामने आया है। मामला जमीन पर अवैध कब्जा करने को लेकर है। बताया जा रहा है कि कब्जा करने वाले लोगों को एडीजी का संरक्षण भी है। दरअसल, राजधानी के खानूगांव क्षेत्र में जमीन पर अवैध कब्जा करने वालों को वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी एडीजी जेल गाजीराम मीणा द्वारा संरक्षण दिए जाने की पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने डीजी जेल संजय चौधरी को शिकायत भेजी थी।
सिंह ने अपने लैटरहेड पर शिकायत लिखकर खुद को भूमि स्वामी बताने वाले लोगों को जेल डीजी तक पहुंचाने को दी।
mapr: kaangres neta ke letarahed par shikaayat lekar pahuncha tha, jel edeejee ne peeta
आरोप है कि जेल मुख्यालय में शिकायत सौंपने के बाद एडीजी जेल मीणा ने उन्हें अपने कक्ष में बुलाकर जमकर पीटा और धमकाया। शाम को एडीजी के खिलाफ जहांगीराबाद पुलिस थाने में शिकायत की गई और मीणा से जान को खतरा बताया।
खानूगांव के सैफ कादर और उसके साढ़ू भाई कामरान उल्लाह पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के पास शिकायत लेकर पहुंचे थे कि उनकी जमीन पर सुरेश मीणा, वरुण मीणा और डालचंद मीणा नामक व्यक्ति कब्जा कर रहे हैं और उसे एडीजी जेल मीणा का संरक्षण है। अजय सिंह ने अपने लैटरहेड पर उनकी शिकायत को संलग्न कर डीजी जेल संजय चौधरी को पत्र लिखा था। उस पत्र को लेकर शिकायतकर्ता कामरान उल्लाह और सैफ कादर सोमवार को जेल पहाड़ी स्थित जेल मुख्यालय पहुंचे, लेकिन इस बीच वहीं उन्हें एडीजी जेल मीणा ने अपने कक्ष में बुला लिया।

कामरान ने बताया कि कक्ष में पहले से ही वरुण और डालचंद मीणा बैठे थे। कक्ष में उनके साथ मीणा ने मारपीट की। उन्हें धमकाया कि मेरे खिलाफ शिकायत करने की हिम्मत कैसे हो गई? कामरान और सैफ एडीजी मीणा के कक्ष से निकलकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय पहुंचे, जहां महामंत्री महेंद्र सिंह चौहान को पूरा घटनाक्रम बताया। चौहान ने मोबाइल पर एडीजी मीणा से बात की और शिकायत करने वाले कामरान के साथ मारपीट करने पर जमकर फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार है और यह कांग्रेस का कार्यकर्ता है। राहुल भैया (अजय सिंह) के शिकायत करने के बाद भी हिम्मत कैसे हो गई, फरियादी के साथ मारपीट करने की।

Leave a Response