फिर बदला मौसम का मिजाज, दिल्ली में भारी ओलावृष्टि से सड़कें बनी शिमला, तापमान में गिरावट

phir badala mausam ka mijaaj

नई दिल्ली। उत्तर भारत में मौसम का मिजाज गुरुवार को फिर बदल गया। दिल्ली-एनसीआर समेत मैदानी इलाकों में अभूतपूर्व ओलावृष्टि हुई। कई सड़कों का हाल शिमला और मनाली जैसा नजर आया। पूरी-पूरी सड़क ओलावृष्टि से पट गई। मौसम का असर हवाई यातायात पर भी पड़ा। करीब 200 उड़ानें या तो देरी से उड़ीं या उतरीं। उधर, पहाड़ों पर फिर भारी बर्फबारी शुरू हो गई। इतनी भारी ओलावृष्टि के बाद राजधानी और आसपास शुक्रवार को हाड़ कंपाने वाली हवाएं चल रही हैं। दिल्ली में पिछले कई दिनों से थोड़ी गर्माहट का एहसास कर रहे लोग शुक्रवार को ठिठुरते नजर आए। फरवरी में हुई इस रिकार्ड तोड़ बारिश, तेज हवा और ओलावृष्टि से दिल्ली की रफ्तार मानो ठहर-सी गई। इससे तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। ठंड का यह दौर अभी दो तीन जारी रहेगा। शुक्रवार से बफीर्ली हवा भी चलेगी और कोहरा भी परेशान करेगा।
phir badala mausam ka mijaaj, dillee mein bhaaree olaavrshti se sadaken banee shimala, taapamaan mein giraavat
दिल्ली-एनसीआर के अलावा अन्य राज्यों में भी मौसम की मार पड़ी है और पिछले कुछ दिनों से हल्की गर्माहट का मज ले रहे लोग शुक्रवार सुबह एक बार फिर से कंबलों में दुबके नजर आए। हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अधिकतर जिलों में बारिश और ओलावृष्टि से गेहूं, सरसों और सब्जी की फसलों को नुकसान पहुंचा है। हरियाण में करनाल स्थित केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक आने वाले 24 घंटे में बूंदाबांदी का दौर जारी रह सकता है। वहीं, पंजाब स्थित पीएयू मौसम विभाग की डॉ. केके गिल ने बताया कि राज्य के कई हिस्सों से गेहूं की फसल पर येलो रेस्ट बीमारी लगने की सूचना आ रही थी। लेकिन बारिश से यह समस्या खत्म हो जाएगी।

हवाई यातायात में आई अड़चनें
देश की राजधानी में बदले मौसम का असर हवाई यातायात पर भी हुआ। इस दौरान बाहर से आइजीआइ एयरपोर्ट पर आ रही 32 से ज्यादा उड़ानों को आस-पास के शहरों की ओर डायवर्ट किया गया। वहीं, तेज हवा के कारण विमान संचालन में बाधा उत्पन्न हुई। इससे करीब 200 उड़ानें देरी से उड़ीं व उतरीं। उत्तराखंड में चार धाम समेत उच्च हिमालय में हिमपात के साथ ही निचले स्थानों पर रुक-रुक कर बारिश का दौर बना हुआ है। मसूरी में ओलावृष्टि हुई। वहीं, निकटवर्ती धनोल्टी, सुरकंडा और नागटिब्बा की चोटियां बर्फ से सफेद हो गई हैं। बर्फबारी और बारिश से समूचा प्रदेश शीतलहर की चपेट में है। ऐसे में कई जिलों के स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई थी।

जवाहर सुरंग के पास पुलिस पोस्ट बर्फ में दबी, कश्मीर में तीन मरे
जम्मू कश्मीर में दो दिन से जारी भारी बारिश और बर्फबारी आफत के साथ जानलेवा बन गई है। अनंतनाग, रियासी व रामसू में तीन लोगों की मौत हो गई है। जवाहर सुरंग के पास पुलिस पोस्ट हिमस्खलन में दब गई। बचाव कर्मियों ने आठ पुलिसकर्मियों समेत दस लोगों को बचा लिया, लेकिन 10 लोग लापता हैं। एसएसपी कुलगाम हरमीत सिह मेहता ने बताया कि पुलिस पोस्ट में 18 पुलिसकर्मियों समेत कुल 20 लोग मौजूद थे। जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर यातायात बहाल होने तक अब निजी वाहन चालकों को प्रतिदिन पेट्रोल पंप से तीन लीटर और व्यावसायिक वाहनों को 10 लीटर ईंधन देने के निर्देश जारी हुए हैं। दरअसल हाईवे बंद होने से पेट्रोल व डीजल सहित अन्य सामग्री लेकर जाने वाले ट्रक रास्ते में फंसे हुए हैं।

Leave a Response