राजनीति की पिच पर नई पारी की शुरूआत करेंगे हैं सहवाग, रोहतक से हो सकते हैं भाजपा के उम्मीदवार

raajaneeti ki pich

चंडीगढ़। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर और विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग अब राजनीति की पिच पर नई पारी जल्द शुरू कर सकते हैं। 2019 लोकसभा चुनाव में वह हरियाणा से बीजेपी के उम्मीदवार हो सकते हैं। बीजेपी यहां रोहतक सीट पर उनकी उम्मीदवारी की संभावनाएं देख रही है। 2019 लोकसभा चुनाव के लिए रविवार को बीजेपी कोर कमिटी की बैठक में शामिल पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि रोहतक सीट पर कांग्रेस के दिग्गज नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा को मात देने के लिए सहवाग के नाम पर भी चर्चा हुई है। हालांकि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने सहवाग की उम्मीदवारी की चर्चा से साफ इनकार करते हुए कहा कि अभी तो वह (वीरेंद्र सहवाग) बीजेपी में शामिल भी नहीं हुए हैं।
raajaneeti ki pich par nai pari ki shuruat karenge hain sahavag, rohatak se ho sakate hain BJP ke ummidavar
उधर, बीजेपी के विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक पार्टी ने एक वरिष्ठ नेता को पूर्व क्रिकेटर तक यह आॅफर पहुंचाने की जिम्मेदारी भी दे दी है। नाम का जिक्र ना करने की शर्त पर पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने हमारे सहयोगी टाइम्स आॅफ इंडिया से बातचीत में कहा, ‘सहवाग पर पार्टी ने निर्णय कर लिया है। अब यह सहवाग पर निर्भर है कि वह सहमति देते हैं या नहीं। जिस पार्टी नेता को सहवाग से बात करने की जिम्मेदारी दी गई है, वह दिल्ली और एनसीआर की राजनीति में काफी सक्रिय हैं।’

हंसराज हंस का नाम भी संभावित लिस्ट में
वीरेंद्र सहवाग के अलावा सूफी गायक हंसराज हंस का नाम भी बीजेपी के संभावित उम्मीदवारों की सूची में सामने आ रहा है, जो हाल ही में कांग्रेस से अलग होकर बीजेपी में शामिल हुए हैं। सिरसा लोकसभा सीट से वह बीजेपी के उम्मीदवार हो सकते हैं। 2014 लोकसभा चुनाव में बीजेपी इस सीट को गंवा दी थी। सूत्रों के मुताबिक, हंसराज हंस को अब क्षेत्र में काम शुरू कर देने के लिए कहा गया है। हालांकि बराला ने इससे भी इनकार किया।
‘ये चर्चे सिर्फ सोशल मीडिया पर’

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, ‘अभी तो हमने 2019 चुनाव के लिए प्रक्रिया ही शुरू नहीं की है। हंसराज हंस जरूर एक राजनेता हैं लेकिन सहवाग तो अभी पार्टी तक में शामिल नहीं हुए हैं। ये सभी चर्चे सिर्फ सोशल मीडिया पर ही हैं। हमने किसी भी सीट पर अभी ऐसी कोई चर्चा नहीं की है।’ बता दें कि 2014 लोकसभा चुनाव में हरियाणा में बीजेपी 10 लोकसभा सीटों में से 7 पर जीत दर्ज की थी। हिसार और सिरसा की सीट पर आईएनएलडी और रोहतक की सीट पर कांग्रेस को जीत मिली थी।

Leave a Response