सर्वे में दावा: दिल्ली में वोट प्रतिशत में कांग्रेस दूसरे स्थान पर, तीसरे नंबर पहुंची आप

tisare nambar pahunchi aap

नई दिल्ली: चुनावी मौसम नजदीक है और इसलिए सर्वे-कयासों का दौर भी लगातार चल रहा है। तमाम पार्टियां चुनावी समर की रणभेरी बजा चुकी है। सेनापति तैयार हैं और जीत के लिए बूथ स्तर तक के लिए मानों अश्वमेध का घोड़ा छोड़ दिया गया हो। लोकसभा के चुनाव तो होने ही हैं साथ ही दिल्ली विधानसभा चुनावों की सुगबुगाहट भी राजधानी की फिजा में सुनाई देने लगे हैं।
sarve mein dava: delhi mein vot pratishat mein congress dusare sthaan par, tisare nambar pahunchi aap
आप बनी तीसरे नंबर की पार्टी
एक ताजा सर्वे में दावा किया जा रहा है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी वोट प्रतिशत के मानकों पर तीसरे नंबर पर पिछड़ गई है। इस सर्वे में भारतीय जनता पार्टी को पहले तो आप को तीसरे नंबर पर दिखाया गया है। ये बदलाव एमसीडी चुनाव के दौरान के समय से हुआ है जब बीजेपी ने जोरदार जीत दर्ज की थी।

इस तरह हुआ है ये बदलाव
2015 के विधानसभा चुनाव के वोट प्रतिशत को देखें तो जिस कांग्रेस को 2013 में 24।6% वोट मिला था, उसे 2015 में मात्र 9।7% वोट मिला। जबकि आम आदमी पार्टी को 54% मिले और बीजेपी को 32।2% वोट मिले। 2013 के चुनाव में बीजेपी को 34।1% वोट मिले थे। यानि कि 2015 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मात्र 2% वोट का नुकसान हुआ।

माकन ने किया था प्रयास
इन सब से बेपरवाह माकन कांग्रेस को बूथ स्तर पर मजबूत करने का प्रयास करते दिखे। कांग्रेस की जड़ों को जमाने की कोशिश करते दिखे। यही कारण रहा कि एमसीडी चुनाव में पुराने नेताओं की नाराजगी के बाद भी माकन ने कांग्रेस को विधानसभा के मुकाबले 11% अधिक वोट दिलवाया तो वहीं केजरीवाल की पार्टी को 26% वोट मिला। यानि सीधे-सीधे आधा का नुकसान। बीजेपी को 5% वोट का फायदा हुआ था।

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने साधा निशाना
इस ताजा सर्वे को लेकर कांग्रेस की महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी ने अपने आधिकारिक ट्विटर पर लिखा कि, ये सर्वेक्षण बताता है कि राजधानी दिल्ली में बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधी लड़ाई है। इस सर्वे के हिसाब से आम आदमी पार्टी कहीं नहीं दिखती। उन्होंने लोगों से अपील की है की वे अपना वोट आप को देकर जाया न करें।

केजरीवाल ने किया था दावा
आपको बता दें कि अभी कुछ दिन पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि राजधानी में बीजेपी और आप में सीधी टक्कर है और अगर ऐसे में कांग्रेस को वोट दिया गया तो ये सीधे आप पर असर डालेगी और इसका फायदा बीजेपी को मिलेगा।  हालांकि इस सर्वेक्षण की मानें तो आम आदमी पार्टी दिल्ली में तीसरे नंबर की पार्टी बनती जा रही है या यूं कहें कि वो वोट काटने वाली पार्टी साबित होगी। हालांकि इस सर्वेक्षण के आधार पर कुछ भी पुख्ता तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता।

Leave a Response