नए डीजीपी बोले, पुलिस समाज को सुरक्षित वातावरण देने के लिए है, नेताओं-अधिकारियों की संतुष्टि के लिए नहीं

environment to the society

भोपाल। नवागत पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) वीके सिंह ने पुलिस कमिश्नर व्यवस्था को लेकर कहा है कि समाज की अपेक्षा रहती है कि पुलिस बेहतर ढंग से काम करे और इसके लिए जो व्यवस्था अच्छी हो, उससे पुलिसिंग कराई जाए। पुलिस आईएएस, आईपीएस या नेताओं की संतुष्टि के लिए नहीं है। पुलिस समाज को सुरक्षित वातावरण देने के लिए होती है।
The new DGP said, the police is to give a safe environment to the society, not for the satisfaction of leaders and officials
सिंह बुधवार को डीजीपी के रूप में कार्यभार ग्रहण करने के बाद मीडिया से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा अवैध उत्खनन में संबंधित विभाग द्वारा पुलिस से मदद मांगी जाएगी तो पुलिस बल उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने पुलिसकर्मियों को अपराधी से एक कदम आगे रहने की सोच रखने पर जोर दिया और कहा कि अपराधी के पास जो नई तकनीक के उपकरण हैं, उनकी पूरी तकनीक की जानकारी होनी चाहिए। आधुनिकीकरण के लिए पुलिस निरंतर काम करेगी।

अभिषेक मिश्रा का सवाल टाल गए
दिल्ली पुलिस द्वारा अभिषेक मिश्रा की गिरफ्तारी और राजगढ़ में अल्पसंख्यक लोगों में असुरक्षा की भावना संबंधी सवालों को डीजीपी टाल गए। उन्होंने अपनी प्राथमिकता बताते हुए सिंह ने कहा कि पुलिस बल में अनुशासन जरूरी है। जो अच्छी वर्दी पहनता है, वह अनुशासित होता है। अनुशासन की कमी से कई तरह के दुष्परिणाम सामने आते हैं।

महिला अपराध के मामले में अव्वल रहने संबंधी सवाल पर उन्होंने कहा कि महिला अपराधों की जितनी संख्या है और जितने दिखते हैं, दोनों में कमी लाने पर काम किया जाएगा। महिलाएं सुरक्षित महसूस कर सकें, ऐसा माहौल बनाया जाएगा। महिलाएं बिना डर के अपने साथ होने वाली घटनाओं की रिपोर्ट कराने थाने पहुंचें, इसके लिए महिला डेस्क जैसी व्यवस्था लागू है।

Leave a Response