छलका दीपक बावरिया का दर्द, बोले- मैं एक साल से हो रहा हूं अपमानित, मुझे गुंडे भिजवाकर पिटवाया

humiliated for a year

भोपाल। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया एक कार्यक्रम में भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि मैं एक साल से अपमानित हो रहा हूं। टिकट बेचने के आरोप लगे। मुझे गुंडे भिजवाकर पिटवाया गया। बावरिया मप्र कांग्रेस कमेटी के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के सम्मेलन में सोमवार को भाषण दे रहे थे। इस दौरान वे अपनी भावनाओं को रोक नहीं पाए।
The pain of the treacherous lamp of Bavaria, say- I am being humiliated for a year, sending me a goose gooseberry
उन्होंने विदिशा के टिकट वितरण को लेकर विधायक शशांक भार्गव द्वारा पिछले दिनों लगाए गए आरोपों पर सफाई देते हुए कहा कि वे तो गुजरात वापस जाना चाहते थे मगर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव तक रुकने को कहा है। विदिशा के टिकट को लेकर उन्होंने पूरा ब्योरा दिया, जिसमें अल्पसंख्यक कोटे के पांच टिकट देने, एक टिकट पर सहमति नहीं देने और एक सीट पर नए चेहरे की बात हाईकमान के सामने रखी थी। बावरिया ने कहा कि जब उन्हें प्रभारी बनाया जा रहा था, तभी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को कहा था कि वे 65 साल के ऊपर हो चुके हैं, इसलिए किसी युवा को वहां भेज दें। कुछ समय मैंने टाला भी, लेकिन आखिरकार मुझे यहां आना पड़ा।

पिछड़े वर्ग के नेताओं का बस उपयोग करती है भाजपा
प्रदेश प्रभारी बावरिया ने कहा कि भाजपा पिछड़े वर्ग के नेताओं का केवल उपयोग करती है। उमा भारती और शिवराज सिंह चौहान दो उदाहरण हैं। शिवराज सिंह चौहान को नेता प्रतिपक्ष नहीं बनाया और उनके सामने नरोत्तम मिश्रा, कैलाश विजयवर्गीय, नरेंद्र सिंह तोमर और गोपाल भार्गव जैसे नेताओं को खड़ा कर दिया। बावरिया ने आरोप लगाया कि भाजपा गाय की बात तो करती है, लेकिन उनकी सरकार में गौ मांस का भारत सबसे बड़ा निर्यातक बन गया है। नौकरियां समाप्त कर संविदा और अतिथि शिक्षक जैसे रास्ते निकाल लिए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि संविदा के माध्यम से भाजपा नेताओं की संस्थाओं द्वारा नौकरियां देकर शोषण किया गया।

जनसंख्या के आधार पर हिस्सेदारी
कार्यक्रम में पीसीसी के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव ने जिसकी जितनी संख्या भारी, उसकी उतनी हिस्सेदारी” का नारा दिया। पूर्व विधायक रामनिवास रावत ने कहा कि भाजपा ने लोकसभा में हार से बचने के लिए सामान्य वर्ग को दस फीसदी का आरक्षण देने की घोषणा की है, जिसका कांग्रेस भी स्वागत करती है लेकिन यह जुमला जैसा साबित होगा। पूर्व महापौर विभा पटेल ने कहा कि ओबीसी के मेरिट में आने वाले बच्चों को आरक्षण में शामिल कर पिछड़ा वर्ग का नुकसान किया जा रहा है। जबकि पहले ऐसे बच्चों को सामान्य वर्ग के साथ शामिल किया जाता था। सम्मेलन में पूर्व विधायक विद्यावती पटेल, तिलक सिंह लोधी और मप्र कांग्रेस कमेटी के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के अध्यक्ष व सांसद राजमणि पटेल ने भी संबोधित किया।

Leave a Response