वॉशिंगटन पोस्ट का दावा, हर दिन 17 झूठ बोलते हैं ट्रंप, दो साल में 7,645 बार किया गुमराह

trump done 7,645 times in two years

वॉशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पद संभालने के बाद से दुनियाभर के पत्रकारों के सामने समस्याएं खड़ी कर दी हैं। मगर, पत्रकारों ने अपने धर्म का पालन करते हुए उनके हर वादों की जांच की और अब वॉशिंगटन पोस्ट अखबार ने फैक्ट चेकर नाम की अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपित पद संभालने के बाद से दो साल के कार्यकाल में 7,645 बार झूठ बोला है।
फास्टचेकर के डाटाबेस के अनुसार, अक्टूबर में उन्होंने 1200 झूठ या भ्रमित करने वाली बातें बोलीं। ब्रिटिश बेवसाइट द गार्जियन की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप ने 2018 में रोजाना 17 बार झूठ बोला है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कुछ दिन तो ऐसे रहे, जब ट्रंप ने झूठ बोलने में टॉप करते हुए 100 बातें झूठी या मिसलीड करने वाली बोलीं।
Washington Post claims 17 lies every day, trump done 7,645 times in two years
ट्रंप के सत्ता में आने के दो साल गत शनिवार को पूरे हुए हैं। इसी मौके पर वॉशिंगटन पोस्ट ने यह रिपोर्ट जारी की है। वॉशिंगटन पोस्ट के फैक्ट चेकर कॉलम के मुख्य लेखक और संपादक ग्लेन केसलर ने कहा इस काम में हमारा बहुत समय लगा, क्योंकि वह लगातार बात कर रहे हैं। अखबार ने अपनी रिपोर्ट में फैक्ट चेकर के आंकड़ों का हवाला दिया है. यह फैक्ट चेकर राष्ट्रपति द्वारा दिए गए हर संदिग्ध बयान का विश्लेषण, वर्गीकरण और पता लगाने का कार्य करता है। यह रिपोर्ट आने के बाद राष्ट्रपति ट्रंप की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। गार्जियन की रिपोर्ट में कहा गया है कि व्हाइट हाउस में सत्ता संभालने से पहले चुनाव प्रचार के दौरान किए गए झूठे वादों को शामिल नहीं किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप ने कार्यकाल के दूसरे साल सर्वाधिक झूठ बोला है। फैक्ट चेकर राष्ट्रपति द्वारा दिए गए प्रत्येक संदिग्ध बयान का विश्लेषण, वर्गीकरण और पता लगाने का कार्य करता है।

वाशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रंप ने अपने कार्यकाल के पहले साल में जहां रोजाना औसतन 6 झूठ बोले, दूसरे साल में इसमें लगभग तीन गुना और बढ़ोतरी करते हुए प्रतिदिन के हिसाब से हर दिन ऐसे 16.5 झूठे दावे किए। ट्रंप अपनी विदेश नीति और व्यापार को लेकर भी झूठ बोल चुके हैं। आंकड़ों के मुताबिक, अमेरिकी राष्ट्रपति ने आव्रजन के बाद सबसे ज्यादा झूठ विदेश नीति को लेकर बोला। उन्होंने इस संबंध में 900 ऐसे गुमराह करने वाले दावे किए। वहीं इस मामले में व्यापार तीसरी नंबर पर है, जिसे लेकर उन्होंने 854 झूठ या गुमराह करने वाले दावे किए।

इसके बाद इस संबंध में अर्थव्यवस्था (790) और रोजगार (755) के मसले पर उनके द्वारा बोला गया झूठ है। ट्रंप कई अन्य मामलों को लेकर भी ऐसे 899 दावे कर चुके हैं, जिसमें मीडिया और उन लोगों पर किया गया हमला है, जिन्हें अपना विरोधी कहते रहे हैं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि उनके दो साल के कार्यकाल में केवल 82 दिन यानी करीब 11 प्रतिशत समय ही ऐसा रहा, जब उन्हें लेकर कोई दावा दर्ज नहीं किया गया। इनमें से अधिकांश वे दिन थे, जब राष्ट्रपति गोल्फ खेलने में व्यस्त थे।

Leave a Response